गोंडा मनकापुर नवरात्रि के शुभ अवसर पर देवी भागवत पुराण का आयोजन बड़े ही हर्षोल्लास से चल रहा है

0
836

श्याम बाबू

गोंडा मनकापुर-गोण्डा।शारदीय नवरात्रि के पावन अवसर पर मनकापुर के मलेन पुरवा मे श्री मद देवी भागवत कथा का माहात्म्य बताते हुए ।श्री अवध रक्षाबंधन पूरी अयोध्या के महान कथा वाचक आचार्य रघुनाथ दास शास्त्री ने कहा।की
वैदिक सनातन धर्म मे शारदीय नवरात्र की महिमा का वृहद वर्णन है यह प्रतिवर्ष आश्विन शुक्ल पक्ष प्रतिपदा से नवमी पर्यन्त भारत वर्ष के कोने कोने मे हिन्दू मात्र के घर मे भगवती जगदम्वा का पूजन सोत्साह किया जाता है इस वर्ष यह पावन पर्व आश्विन शुक्ल प्रतिपदा वुधवार १०अक्टूवर से आश्विन शुक्ल नवमी गुरुवार १८अक्टूवर २०१८ तक है प्रथम दिन कलश स्थापन मध्यान्ह काल अभिजित मुहूर्त ११|३६ से १२\२४ के मध्य उत्तम है वैसे प्रातः काल स्थिर लग्न मे भी ६|२९ से७ |५६ तक किया जा सकता है किन्तु चित्रा नक्षत्र एवं वैधृति योग के कारण मध्यान्ह का अभिजित मुहूर्त ही सर्वोत्तम है यह महामाया की पूजा सभी सम्प्रदायो के अनुयायी अपनी कुल तथा सम्प्रदाय परम्परागत पद्धतियो के अनुसार अपनी श्रद्धा भक्ति पराम्वा के पावन चरणो मे चढाते है शाक्तो के लिए तो यह शारदीय नवरात्र महापर्व है और उनमे भी कौल-मार्गावलम्वियो के लिए तो यह पर्व अत्यन्त महनीय है भगवती दुर्गा को प्रसन्न करने का यह महापर्व प्राणि मात्र के लिए उपयोगी है यह अनादि काल से चला आ रहा है यह जीवन शक्ति दायक अलौकिक अनुष्ठान है जिस दिन भारतीय जनमानस इसकी महत्ता को हृदयङ्गम करेगै विधिपूर्वक घर घर मे इस महाव्रत की उपासना होने लगेगी जगन्माता उसी दिन अपनी अगाध करुणा की वृष्टि करेगी भारतवर्ष पुनः पूर्व उत्कर्ष को प्राप्त करेगा आज संसार की जैसी अधोगति जैसी दुर्दशा जैसा विपन्न भाव है उससे परि-त्राण करने वाली एक मात्र परा शक्ति भगवती जगदम्वा ही है अतः समस्त भारतीय वैदिक सनातन धर्मावलम्वियो को मन की अनन्त श्रद्धा के साथ इस पावन नवरात्र व्रत का विधिवत पालन करना चाहिए फिर इसका प्रगट प्रभाव दिखाई पडेगा भविष्य मे यही शक्ति पूजा ही भारत को शक्ति सम्पन्न वना सकता है।
Short URL: Generating...

LEAVE A REPLY