उत्तरी पूर्वी लोकसभा सीट पर चुनाव रहेगा रोचक, बसपा से चुनावी मैदान में बहन जी ने उतारा राजवीर सिंह को

0
56

भाजपा, कांग्रेस और आप की बिगाडेंगे समीकरण,
ओबीसी, एसी, गुर्जर वोटरों को साध लिया तो जीत भी सकते है
1996 से जुड़े पार्टी से राज वीर सिंह
18 को दाखिल उत्तरी पूर्वी दिल्ली से नामांकन
नई दिल्ली । उत्तर पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट पर पहली बार भाजपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के साथ बहुजन समाज पार्टी (बसपा) टक्कर देगी। इस सीट पर बसपा सुप्रीमो बहन मायाबती ने मार्बल कारोबारी व समाजसेवी राजवीर सिंह को मैदान में उतारा है। इस बात की जानकारी बसपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष चौधरी सुरेंद्र कुमार ने दी।
पार्टी द्वारा उतरी पूर्वी दिल्ली लोकसभा के प्रत्याशी राजवीर सिंह के अनुसार वह बृहस्पतिवार (18 अप्रैल) को अपना नामांकन दाखिल करेंगे। उन्होंने बताया कि दलितों के साथ हमेशा से नाइंसाफी होती रही है और इस बार ओबीसी व एसटी के अलावा बाल्मिकी समाज के लोगों को न्याय दिलाएगें। श्री सिंह बृहस्पतिवार को अपना नामांकन दाखिल करेंगे। उनके नामंकन में बड़ी संख्या में समर्थक पहुंचने वाले है। राजवीर सिंह अपने नामांकन के माध्यम से ही बसपा सुप्रीमो के नजर में यह साबित करना चाहते है कि उनका इलाके में पलड़ा भारी है और दोनों प्रमुख पार्टियों भाजपा और कांग्रेस को कड़ी टक्कर देंगे। सनद रहे कि नमांकन मंगलवार से शुरू हो रहा है और 23 अप्रैल आखिरी तारीख है। प्रत्याशियों के नाम वापस लेने की आखिरी तारीख 26 अप्रैल है।

राजबीर सिंह मार्बल कारोबारी है और वह पार्टी से 1996 से ही जुड़े हुए हैं। इसके साथ ही वह समाज सेवा से भी जुड़े रहे है। यहीं वजह है कि वह बसपा सुप्रीमो बहन मायावती के बहुत करीबी बताये जाते है। राजस्थान के झूनझूनू के रहने वाले राजवीर सिंह स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद 1990 में दिल्ली आ गए थे। वह शुरू से ही दलित और वंचित समाज को न्याय दिलाने की लड़ाई लड़ते रहे है। उनके जज्बे को देखते हुए ही बहन जी ने उन्हें इस बार दिल्ली के उत्तरी पूर्वी सीट पर चुनावी मैदान में उतारा है। यहां वह भाजपा, कांग्रेस समेत आप पार्टी का चुनावी समीकरण बिगाड़ ही नहीं सकते है बल्कि इस सीट पर बाजी भी मार सकते है। 1975 में जन्मे श्री सिंह युवा है इस लिहाज युवा उनसे अपने को कनेक्ट भी करेंगे। इस क्षेत्र में ओबीसी मतदाताओं का मत प्रतिशत 21.48 फीसद है, जबकि एससी 4.79, जाट 3.63, गुर्जर 7.61 फीसद है। यहां मुस्लिम 20.84 फीसद है। चुनाव आयोग के ताजा आंकड़ों के अनुसार इस बार कुल मतदाता 23,54,602 है। पुरुष 12,92,715 और महिला 10,61,620। इस बार चुनाव आयोग ने ट्रांसजेंडर को भी अलग से जगह दी है। उनकी संख्या इस सीट पर 167 है।

LEAVE A REPLY